Goat Farming Loan and Subsidy Information 2019

Goat Farming Loan and Subsidy Information 2019 Update

Introduction to Goat Farming Loan and Subsidy

Goat Farming Loan and Subsidy Information 2019
www.goatfarming.ooo
नमस्कार दोस्तो,
आज इस पोस्ट में हम बकरी पालन लोन और सब्सिडी (Goat Farming Loan and Subsidy) के बारेमे पूरी जानकारी हासिल करेंगे। Goat Farming व्यवसाय भारत मे काफी तेजी से फैल रहा है क्योंकि भारत मे बढ़ती मांस की मांग के चलते बकरी पालन व्यवसाय को बढ़ावा मिल रहा है। और Goat Meat यानी बकरे के मांस को अच्छी किमत भी मिल रही है। भारत में बकरी पालन सदियों से किया जारहा है । बकरी पालन एक ऐसा व्यवसाय है जो बिना किसी ज्यादा लागत से किया जासकता है और ये व्यवसाय खेती पर आधारित होने के कारण ग्रामीण स्तरके किसानों, बेरोजगार नवयुवकोको रोजगार की संधि मिल सकती है।
आप व्यवसायिक बकरी पालन (Commercial Goat Farming) करना चाहते है तो आपको थोड़ा ज्यादा पैसे की जरूरत होती हैं। बकरी पालन व्यवसाय में मुनाफा तुरंत नही मिलता Goat Farming Business शुरू करने के 2 से 3 साल बाद बकरि पालन व्यवसाय से मुनाफा मिलना शुरू होता है, मगर कईबार बकरी पालक 2 से 3 साल होने के पहले है पैसे की कमी के कारण बकरी पालन व्यवसाय बंद कर देते है।
बकरी पालन व्यवसाय को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा विविध Loan Scheme (लोन योजना) और  Subsidy (अनुदान) देती है।

भारत मे बकरी पालन निम्नलिखित राज्यों में विशेष रूपसे किया जाता है। Gujarat, Maharashtra, Rajasthan, Telangana, Karnataka, Andhra Pradesh, Tamilanadu, Bihar, Rajasthan, Uttar Pradesh, Orissa, Kashmir and West Bangal, Jharakhand इनराज्यो ने बकरी पालन व्यवसाय को बढ़ावा देने Goat Farming business loan and subsidy जो स्थानीय बैंक और NABARD (National Bank for Agriculture and Rular Development).
Goat Farming business subsidy and loan के बारेमे अधिक जानने से पहले आपने बकरीपालन व्यवसाय क्यो चुना ? ये समझना चाहिए । इस सवाल का जवाब नीचे दिया गया है।
1) Goat Meat (बकरे का मांस) की अधिक मांग के चलते, अधिक मुनाफा हो सकता है।
2) बकरी पालन व्यवसाय से हमे मांस, दूध और लेंडी खत का उत्पादन सालभर मिलता है ।
3) बकरिया काफी समझदार जानवर है औऱ उन्हें कम जगह में पाला जा सकता है।
4) बकरियो को खुली जगह में भी पाला जासकता है और खेती से निकले खरपतवार पर भी बकरियो को पाला जा सकता है।
5) बकरियो के दूध में गाय के दूध से ज्यादा न्यूट्रीशियन होता है।
6) बकरियो के लेंडी बेचकर किसान एक्स्ट्रा पैसा कमा सकता है।
7) गाय औऱ भेड़ो के मुकाबले बकरियो की रोग प्रतिकार शक्ति ज्यादा होती है।
8) बकरिया तीन तक बच्चो को जन्म दे सकती है। और कम संख्या में अपनी तादात बढ़ा सकती है।
9) बकरियो को आसानी से बेचा जा सकता है।
10) बकरिया किसी भी जानवर के साथ आसानी से रह सकते है जिसकारण उन्हें स्वतंत्र बाड़े की जरूरत नही होती।

Goat Farming Loan- About Nabard

Nabard का मतलब "National Bank for Agriculture and Rular Development". Nabard की स्थापना RBI ने की हैं। नाबार्ड बैंक किसानों और खेती पर आधारित व्यवसायको आर्थिक सहाय्यता करने के लिए बनाया गया है।
Nabard प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष्य रूप से किसानों को Loan और Subcidy के रूप में आर्थिक मद्त करता है।

Goat Farming Loan- कितनी Subcidy मिलती हैं।

नाबार्ड के इस योजना में subcidy जनरल कैटेगिरी से लेकर ओपन कैटेगिरी में अलग अलग है। Goat Subsidy की रक्कम 25% से 35% के रूप में अलग अलग होती है।
How get goat farming loan and subsidy ?
बकरी पालन के लिए लोन और सब्सिडी कैसे प्राप्त करे ?
भारत मे सभी राज्यों का बकरी पालन के विकास के लिए अलग अलग बजेट रखा हुवा है। भारत मे महाराष्ट्र और कर्नाटक सरकार goat farming के विकास के लिए अग्रगण्य है।

Goat Farming Loan- Process for Goat Farming Loan and Subsidy:-

1) जब आप पूरी तरह से पक्का कर लेंगे की आपको बकरी पालन "Goat Farming" व्यवसाय ही करना है, और आपको Nabard Loan लेना है तो आपजे नजदीकी कमर्शियल, रूलर या को ऑपरेटिव बैंक में जाकर Nabard Loan के बारे में जानकारी हासिल करें। और बैंक से आप्लिकेशन फॉर्म ले।

2) बैंक ऑफिसर के मद्त से अप्लीकेशन फॉर्म भर ले, और goat farming project report तयार कर ले।

3) पूरी तरह से भरा हुवा फॉर्म और प्रोजेक्ट रिपोर्ट Nabard के कार्यालय में जमा करने के बाद बैंक कुछ समय लेता है आपका अप्लीकेशन फॉर्म जांचने के लिए। अगर आपका अप्लीकेशन और प्रोजेक्ट रिपोर्ट सही है तो बैंक के तरफ से एक टेक्निकल ऑफिसर आपके दिए गए फार्म के पते पर आएंगे। ताकि Loan और Subsidy देने के पहले आपका जगह और सभी दस्तावेज का मुआवना कर सके।

4) लोन पास होनेपर लोन लेनेवाले किसान को मार्जिन रक्कम जोकि 10 से 15 % भरनी पड़ती है, और goat farming में लगने वाली बाकी रक्कम Nabard देंगी।

5) Nabard Goat Farming के लिए लगभग 12% ब्याज लगाती है जो कि बैंक-बैंक के लिए विभिन्न है।

Goat Farming Loan-Bank Offering Goat Farming Loan and Subsidies in India.

भारत मे निम्नलिखित बैंक किसानों के लिए लोन मुहवय्या करते है।
@ State Bank Of India
@ IDBI Bank
@ Maharashtra Bank
@ Co-operative Bank
@ Canara Bank
@ Oriental Bank of Commerce

Mudra loan for goat farming

Nabard Bank के अलावा भारत सरकार की योजना जिसे Mudra Loan के नाम सभी जाना जाता है वह भी Goat Farming के लिए लीन देती है। Mudra Loan में भारत सरकार ने किसानों का आर्थिक फायदा होनेके के लिए विविध व्यवसाय के लिए लोन देने की व्यवस्था की है।
साथही goat farming loan from sbi यानी स्टेट बैंक ऑफ इंडिया द्वारा भी बकरी पालन के लिए लोन देने की सुविधा है। SBI एक भारत का सबसे बड़ा बैंक है जो भारत के शहरों से लेकर ग्रामीण भागो तक इस बैंक की शाखाएं है, जो किसानों के लिए goat farming loan देती है।

Goat Farming Loan and Subsidy Information 2019 Goat Farming Loan and Subsidy Information 2019 Reviewed by Nitesh S Khandare on July 27, 2019 Rating: 5

8 comments:

  1. IDBI Bank is not gaving lone

    ReplyDelete
  2. Sir anybody is not giving me loan
    What to do .

    ReplyDelete
  3. Lone sari banke asani see de deti hai 8756823373

    ReplyDelete
  4. सब चुतीया बनाते है कोई लोन नही देता

    ReplyDelete
  5. सब चुतीया बनाते है कोई लोन नही देता

    ReplyDelete
  6. "Enjoy the delicious taste of flavorsome, tender meat when you use Leg OFF Bones PAD from Majestic Meat Products in your favorite slow roast recipes.Majestic Meats - Wholesale Meat Suppliers
    Unit 2-3, Crossley Hall Works
    York Street
    Bradford
    BD8 0HR

    T: 01274 544675
    W: www.majesticmeat.co.uk
    E: info@majesticmeat.co.uk" meat suppliers wholesale

    ReplyDelete

Powered by Blogger.