Maharashtra State Fish Farming Training 2019


Maharashtra State Fish Farming Training 2019

नमस्कार दोस्तो,
आप अगर किसान है, नवयुवक है और अपना खुद का व्यवसाय शुरू करनेका विचार कर रहे है, तो आज इस पोस्ट को पूरा पढ़े मछली पालन का प्रशिक्षण लेने की सुवर्णसंधि। डॉ. बाळासाहेब सावंत कृषि विद्यापीठ, दापोली द्वारा आयोजित दो दिवसीय Fish Farming Training का आयोजन किया गया है। महाराष्ट्र के सभी किसान , नवयुवकोंको सुवर्णसंधि है कि इस fish training में भाग लेकर प्रशिक्षण लेकर आपना fish farming business शुरू कर सकते है।
Maharashtra State Fish Farming Training 2019
www.goatfarming.ooo

Maharashtra State Fish Farming Training

मछली पालन (Fish Farming) Business भारत मे काफी तेजी से बढ़ रहा है। क्योंकि इस व्यवसाय से काफी अच्छी कमाई कर सकते है। भारत मे कुल आबादी के लगभग 60 प्रतिशत लोग मछली खाना पसंद करते है। इसका मतलब काफी ज्यादा डिमांड है Fish Farming व्यवसाय को, भारत मे जितनी मछली की मांग है उतनी मछली की पैदावार नही होती, इसलिए कोईभी किसान या नवयुवक Fish Farming Business को शुरू करता है तो वह अच्छा खासा पैसा कमा सकता है।

What Is Fish Farming Business

Fish Farming का मतलब मछलियों को पालना उनका आकार बड़ा करना और उन्हें बेचकर पैसे कमाना होता है।
Fish Farming आमतौर ओर समुद्र और नदियों में कई जाती है मगर नयी तकनीक के चलते अभी कुत्रिम तलाबों में भी फिश फार्मिंग की जाती है।

Site Selection For Fish Farming

Fish Farming Business के लिए स्थान का चयन करना काफी महत्वपूर्ण होता है,
Fish Farming के लिए नदिया, तलाब या Fish Pond यानी कुत्रिम तलाब की जरूरत होती है। मछलियों केआकार औऱ प्रजनन ओर भी स्थान का विशेष प्रभाव होता है। इसलिए Fish Farming करते समय सही स्थान का चुनाव करना काफी महत्वपूर्ण होता है।



Types Of Fish Farming In India

Fish Farming मुख्यतौर पर दो तरहसे की जाती है। 1) Fresh Water Fish Farming (मीठे पानी मे मछली पालन)
2) Topical Fish Farming (उष्णकटिबंधीय मछली पालन)
दोनो प्रकारों में मछली Fish Farming की प्रक्रिया और मछलियों की प्रजाति अगल अलग होती है।


Fish Farming In Maharashtra

महाराष्ट्र राज्य Fish Farming व्यवसाय में काफी तेजी से प्रगति कर रहा है क्योंकि यहाँ सरकार और कृषि विद्यापीठों मछली पालन व्यवसाय प्रशिक्षण ( Fish Farming Training) को काफी बढावा दिया है, जिसकारण नवयुवक और किसान मछली पालन व्यवसाय के तरफ आकर्षित हुवे है साथही महाराष्ट्र सरकार ने मछली व्यवसाय को बढ़ावा देनेके के लिए सरकारी योजना और आर्थिक सहाय्यभी देती है।
महाराष्ट्र राज्य में नैसर्गिक तलाब, छोटे तलाब, पाझर तलाब, खेत तलाब (शेततळी) इनका कुलमिलाकर 3.0 लाख क्षेत्र उपलब्ध है।इनमेंसे कुछ प्रतिशत क्षेत्र मछली पालन "Fish Farming" व्यवसाय से वंचित है। इन दुर्लक्षित क्षेत्र का विकास  करके उनमे मछली पालन व्यवसाय शुरू करके काफी अच्छी खासी इनकम की जा सकती हैं और Fish Farming In Maharashtra
में ग्रामीण युवाओं को रोजगार मिल सकता है। इसी उद्देश्य से डॉ. बाळासाहेब सावंत कोकण कृषी विद्यापीठ, शिरगाव रत्नागिरी महाराष्ट्र यहापर तीन दिवसीय Fish Farming Training का आयोजन किया गया है। इस प्रशिक्षण का नाम "गोड्या पाण्यातील मत्स्यसंवर्धनाचे आधुनिक तंत्रज्ञान" रखा गया है।


Fish Farming Traning In Maharashtra

"गोड्या पाण्यातील मत्स्यसंवर्धनाचे आधुनिक तंत्रज्ञान"  नामक तीन दिवसीय मछली पालन प्रशिक्षण महाराष्ट्र के किसानों और नवयुवको के लिए खासतौर पर रखा गया है।
तो, आइये जानते है कि किन किन पॉइंट्स इस Fish Farming Training में सिखाये जा रहे है।


Point's Fish Farming Traning In Maharashtra

1)"गोड्या पाण्यातील मत्स्यसंवर्धनाचे आधुनिक तंत्रज्ञान" की वास्तविक स्थिति
2) मुख्य मछलियों का जीवनचक्र और मत्स्य बीज वाहतूक और मत्स्य बीज की पहचान
3) मछली संवर्धन का बायोफ्लॉक तंत्र
4) मछली संवर्धन का एक्वापोनिक्स तंत्रद्यान

5) रीसिरक्यूलेट्री एक्वाकल्चर सिस्टीम (RAS)
6) रीसिरक्यूलेट्री एक्वाकल्चर सिस्टम के लिए लगनेवाली टंकियों का रचना और निर्माण 
7) बायोफ्लॉक  / रीसिरक्यूलेट्री एक्वाकल्चर सिस्टीम (RAS) संवर्धन पानीका व्यवस्थापन और बहोत कुछ इस तीन दिवसीय Fish Farming Training in Maharashtra में प्रशिक्षणार्थियों को पूरी जानकारी दी जाएगी।


Who Participat Fish Farming Traning In Maharashtra

डॉ. बाळासाहेब सावंत कोकण कृषी विद्यापीठ, शिरगाव रत्नागिरी महाराष्ट्र यहापर तीन दिवसीय Fish Farming Training in Maharashtra में किसान, नवयुवक , ग्रामीण युवक, महाविद्यालयिन विद्यार्थी और शिक्षक हिस्सा ले सकते है।


Fees For Fish Farming Traning In Maharashtra

"गोड्या पाण्यातील मत्स्यसंवर्धनाचे आधुनिक तंत्रज्ञान" इस तीनदिवसीय Fish Farming traning के लिए कृषि विद्यालय ने नाममात्र फीस रखी है । इस प्रशिक्षण के लिए रु.2,000/- (दो हजार रुपये) फिस रखी है। इस फीस में रहने और खानेका खर्चा समाविष्ट नही है।
प्रशिक्षणार्थियों के एडवांस बुकिंग करने पर ही विद्यालय की तरफ से रहने की और खाने की व्यवस्था शुल्क लेकर की जायेगी।

Venue For Fish Farming Traning In Maharashtra

डॉ. बाळासाहेब सावंत कोकण कृषी विद्यापीठ, शिरगाव रत्नागिरी महाराष्ट्र आयोजित तीन दिवसीय Fish Farming Training
मत्स्य विद्यालय,
शिरगाव,  जिला : रत्नागिरी
महाराष्ट्र राज्य -415612
इस पते पर आयोजित की गई हैं।
Maharashtra State Fish Farming Training 2019
www.goatfarming.ooo

Fish Farming Training Duration 16/07/2019  से 18/07/2019


Download Detail's

Maharashtra State Fish Farming Training 2019 Maharashtra State Fish Farming Training 2019 Reviewed by Nitesh S Khandare on July 10, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.