Difference Between ANTI-TOXINS and TOXOIDS in Goat Vaccination.


Difference Between ANTI-TOXINS and TOXOIDS in Goat Vaccination.

एन्टी टॉक्सिन औऱ टॉक्साइड वैक्सी में क्या अंतर होता है।

बकरी पालन में बकरियो की देखभाल और दवा दारू करना ये बकरी पालक का प्रथम कर्तव्य है। Goat Farming व्यवसाय में बकरियो को होनेवाली बीमारियों की जानकारी और उन बीमारी के लिए सही टिकाकरण केबारे में भी जानकारी होना काफी महत्वपूर्ण होता है। Goat Vaccination करते समय बकरी पालक को ध्यान देना चाहिए कि बकरियो को जो Vaccination किया जा रहा है वो कोनसा है और वो किस बीमारी के लिए लगाया जा रहा है। ताकि अगली बार उस बीमारी के लक्षण पता चलते ही बकरी पालक Vaacination तयार रखे।

www.goatfarming.ooo


Important of Goat Vaccination

Goat Farming व्यवसाय में Goat Vaccination का काफी महत्व होता है। बकरिया वैसे किसी भी मौसम में ढलने के काबिल होती है, मगर कुछ ऐसी बीमारियां है जो काफी खतनाक और बकरियो के लिए जानलेवा साबित होती है। Goat Farming व्यवसाय में बकरियो को हानेवाले बीमारियां के रोकथाम के लिए Goat Vaccination करना काफी महत्वपूर्ण होता है। Goat Vaccination करने से बकरियो को भविष्य में होनेवाली बीमारियों से दीर्घकालिक सुरक्षा प्रदान होती है। 

Goat Vaccination शेड्यूल के अनुसार देने होते है, यानी विभिन्न मौसम में होनेवाली विभिन्न संक्रामक बीमारियों के लिए विभिन्न Vaccination होते है।


ANTI-TOXINS and TOXOIDS in Goat Vaccination.

Goat Farming में उपयोग में लायेजाने वाले Vaccination मुख्य दो प्रकार के होते है, कई बार पशुपालक अपने जानवरो को Vaccination करते है तो उन्हें ये समझना चाहिये कि Vaccination के कोन कोनसे प्रकार होते है।

1) Anti-Toxins Vaccine For Goat
2) Toxoids Vaccine For Goat

Goat Vaccination में ये दो प्रकारके vaccine होते है। जब हम Goat को कोई भी vaccination करने के लिए vaccine खरीदते है या पशुचिकिस्तक Goat को vaccine देते है तो उन vaccine पर Anti Toxins या Toxoids Vaccine ये शब्द लिखे होते है ।
हर बकरी पालक को इन शब्दों का अर्थ जानना काफी महत्वपूर्ण है, क्योकि दोनो शब्दो का अर्थ और Vaccine की अलग अलग कार्य भूमिका होती है। 
तो आइये जानते है Anti Toxins या Toxoids Vaccine का अर्थ क्या है।

ये भी जरूर पढ़ें ।

What Is Anti-Toxins Vaccine For Goat.

जब कोई समस्या पहले से मौजूद हो तो एंटी-टॉक्सिन्स का इस्तेमाल किया जाता है। Anti Toxins Vaccine उन vaccine को कहा जाता है जो, बकरियो को वर्तमान में हुई बीमारी पर दिए जाते है।
उदा. अगर बकरी को बुखार है तो बकरी को बुखार के इलाज के लिए जो Vaccine दि जाएगी उस Vaacine को Anti Toxins Vaccine कहते है।
मतलब ये वर्तमान में हानेवाले बीमारी के लिए Anti-Toxins Vaccine इस्तेमाल किये जाते है।


What Is Toxoids Vaccine For Goat.

Goat Farming व्यवसाय में बकरियो को भविष्य में होनेवाली बीमारियों से रोकथाम और बचाने के लिए Toxoids Vaccination किये जाते है। आमतौर पर ये Vaccination बकरियो को दीर्घकालीन सुरक्षा प्रदान करते है। 
Goat Vaccination में तीन सबसे अधिक इस्तेमाल किया जाने वाला Toxoids Vaccination 
ओवरइटिंग रोग वैक्सीन (ET Vaccine) ,टेटनस वैक्सीन (TT Vaccine) और निमोनिया वैक्सीन हैं।


तो दोस्तो, आशा करता हूं कि आपको Anti-Toxins Vaccine और Toxoids Vaccine में क्या अंतर होता है ये समझमें आया होगा।
तो अगली बार आप कोईभी Vaccination करने से पहले दवाई पर लिखे Anti-Toxins Vaccine और Toxoids Vaccine ये शब्द जरूर चेक करके Goat Vaccination करे।


Difference Between ANTI-TOXINS and TOXOIDS in Goat Vaccination. Difference Between ANTI-TOXINS and TOXOIDS in Goat Vaccination. Reviewed by Nitesh S Khandare on January 09, 2019 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.