Listeriosis in Goats (Hindi) । बकरियोका गर्दन गोल गोल घूमना


Listeriosis in Goats (Hindi) 

बकरियोका गर्दन गोल गोल घूमना

www.goatfarming.ooo

नमस्कार दोस्तो,
बकरियोका गर्दन गोल गोल घुमाना, बकरी गोल गोल घूमना या गर्दन पीछे की तरफ मोड़कर बकरोंका बैठना ये  Listeriosis बीमारी कहलाती है। Listeriosis बीमारी एक जीवाणु से होनेवाली बीमारी है,  Listeriosis मुख्य रूप से लिस्टरिया मोनोसाइटोजेनेस के कारण होने वाली प्राणघातक बीमारी है; हालांकि, जुगाली करने वाले जानवरो में लिस्टरिया इवानोववी इस जीवाणु सेभी Listeriosis बीमारी हो सकती हैं। Listeriosis बीमारी Zoonotic Disease वर्ग की बीमारी में शामिल है। Zoonotic Disease वर्ग की बीमारी अर्थ है कि ये बीमारी जानवरों से मनुष्यों में भी संक्रमित हो सकती है।

Listeriosis in Goats

आइये अधिक जानते हैं Listeriosis in Goats के बारे में। Listeriosis के जीवाणु लगभग कहीभी जीवित रह सकते है।   जैसे कि मिट्टी, खाद के ढेर, जानवरो का मल, साथही ये दूषित चारे कपर भी पायाजाता है। Listeriosis के जीवाणु पक्षी, मछली,  जानवर, में मल में भी पायाजाता है। ये जीवाणु पानी, खाद्य और दूधको भी दूषित करता है। यह जीवाणु 34-113 F तापमान का सामना कर सकता है।
तंदरूस्त जानवर और मनुष्य Listeriosis बीमारी के शिकार आमतौर नही होते, मनुष्यो में आमतौर पर गर्भवती महिलाएं ज्यादा प्रभावित होते है। 
जब कोई Listeriosis बीमारी से ग्रासित जानवर के मल या दूध के संपर्क में आता है टी वो भी इस बीमारी से ग्रासित हो जाता है।  Goats में Listeriosis बीमारी श्वसन या संभोग के जरिये भी फैल सकती है।
यानी इस बीमारी से ग्रासित बकरा या बकरी से अन्य बकरा या बकरी से संभोग करने से भी या बीमारी फैल सकती है।

Listeriosis In Goat के लक्षण क्या है।

Listeriosis In Goat के दो प्रकार होते हैं: एन्सेफैलिटिक और सेप्टिकमिक। इस बीमारी के संकेत बकरी के बच्चो की तुलना में वयस्क बकरियों में अधिक बार देखे जाते हैं।
एन्सेफैलिटिक प्रकार में मृत्यु दर सबसे अधिक है और छोटे ruminants में सबसे अधिक प्रचलित है। यह 
इस प्रकार में बकरियोके मस्तिष्क में सूजन आती है जिसके परिणामस्वरूप जानवरो में न्यूरोलॉजिकल लक्षण होते हैं। इस बीमारी का बैक्टीरिया बकरियो के मुंह या अन्य जख्म या खुले घाव के जरिये शरीर में प्रवेश करते हैं, और मस्तिष्क में चले जाते हैं। शुरुआती लक्षण हैं अवसाद, भूख न लगना, दूध का उत्पादन कम होना और बुखार ये होते है।
मष्तिक में जीवाणु पहुँचजाने के बाद मस्तिष्क में सूजन आती है। और बीमारिसे ग्रासित बकरा बकरी अपने शरीर पर नियंत्रन नही रख पाती।
Listeriosis बीमारी के जीवाणु के चलते बकरी गोल गोल घूमने लगती हैं। कभी कभी बकरी अपनी गर्दन भी गोल गोल घुमाने लगती है। जैसे-जैसे बीमारी बढ़ती है, बकरी को आंशिक चेहरे का लकवा होने जैसे लक्षण दिखाई देते हैं, जबड़े कठोर पड जाते हैं, मुहं से लार निकलता रहता है।
बकरियो के शरीर मे ये जीवाणु उसके रक्तप्रवाह में फैल जाता है। अगर बकरी गाभिन है यो ये जीवाणु गर्भपात का कारण भी बन सकता है।

Listeriosis In Goat के बचाव और उपचार

Listeriosis In Goat एक घातक बीमारी है, ये बीमारी का इलाज तुरन्त नही किया गया तो बीमार जानवर की 24 से 48 घँटे के अंदर मौत हो सकती है।
क्योकि इसके लक्षण Goat Polio के समान है इसलिए कईबार इसे Goat Polio बीमारी समझकर इलाज किया जाता है जिसकारण जो इलाज Listeriosis बीमारी को करना चाहिए वो न होकर बकरी की मौत हो सकती है। 
Listeriosis से एकमात्र बचाव होता है कि अपने पशुओ को दूषित चारा ना खिलाये । क्यो की ये बीमारी दूषित चारे के कारण ज्यादा मात्रा में होती है। साफ और स्वच्छ चारा खिलाना चाहिए,

Listeriosis in Goat का उपचार

प्रोकेन पेनिसिलिन (Procaine Penicillin) दवाई का उचित डोस Listeriosis स्व ग्रासित बकरिको  6 घंटे में 3 एक बार 3 से 5 दिनों के लिए और फिर प्रति दिनमे एक ऐसे अतिरिक्त 7 दिनों के लिए देना चाहिए। प्रति दिन 500 mg (Chlortetracycline) क्लोएरेट्रासाइक्लिन भी देना काफी फायदेमंद होता है । क्लोरैम्फेनिकॉल, ऑक्सीटेट्रासाइक्लिन और एम्पीसिलीन ने लिस्टेरियोसिस के इलाज मे काफी उपयुक्त होते है।
तो दोस्तो सबसे महत्वपूर्ण हैंकि आप अपने बकरियो के बाड़े की साफसफाई साथ ही साथ स्वच्छ चारा प्रबंधन करे। सड़ा हुवा या फिर धूल से भरा चारा या खुराक बकरियो को नही देना चाहिए।


दोस्तो पोस्ट में लिखी उपचार ये सिर्फ आपजे जानकारी के लिए है। कृपया अपने जानवरो को ये दवाई ही देना चाहिए ऐसा ये वेबसाइट या ये पोस्ट लेखन नही कहता । आप चाहे तो आपजे पशुचिकिस्तक की इन दवाई के बारे में राय जरूर ले।

Listeriosis in Goats (Hindi) । बकरियोका गर्दन गोल गोल घूमना Listeriosis in Goats (Hindi) । बकरियोका गर्दन गोल गोल घूमना Reviewed by Nitesh S Khandare on December 23, 2018 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.