Dairy Cattle Insurance Policy Of SBI General Insurance (Hindi)


Dairy Cattle Insurance Policy Of SBI General Insurance (Hindi)

www.goatfarming.ooo
नमस्कार दोस्तो,
आप अगर डेयरी फार्मिंग Dairy Farming कर रहे हो, और आपकी उपजीविका Dairy Farming पर ही निर्भर है,तो आज इस पोस्ट को पूरा पढ़े।
दोस्तो किसी भी किसान या Dairy Farming करने वालो को उनके Cattel यानी जानवर उनके आय का एक मुख्य साधन होता है। उनकी सारी घर गृहस्थी Dairy Cattel पर निर्भर होती हैं। अगर इन पशुओ को किसी कारण वश कुछ होता है या ये पशु मर जाते है तो वह Dairy Farmer मुश्किल में पड़ सकता है। इसलिए Dairy Cattle Insurance यानी दुधारू पशुओका बीमा करना काफि महत्वपूर्ण होता है। Dairy Cattle Insurance की मदत से हम हमारे पशुओ के मृत्यु से हुवा नुकसान कुछ हद तक कम कर सकते है।

Dairy Cattle Insurance Policy Of SBI General Insurance का महत्व

दोस्तो अगर आप आज के समय मे किसी भी बैंक में Dairy Farming का लोन लेने जाते हो तो आपको आपके पशु बीमित है या नही ये पूछा जाता है। पहले बैंक से Dairy Farming Loan लेने के बाद पशुओ का Insurance किया जाता था लेकिन अब बैंक पहले से बीमित पशुओ के मालिक को जल्द से जल्द Cattel Loan देती है। 
आज इस पोस्ट में मैं आपको भारतीय स्टेट बैंक State Bank Of India द्वारा चलाए जानेवाले Dairy Cattle Insurance Policy के बारे में बताने वाला हूं। 
इसपोस्ट में मैं आपको State Bank Of India द्वारा चलाए जानेवाले Dairy Cattle Insurance Policy कैसे आवेदन करना है क्या क्या फायदे है और किन किन हालात में पशुओ के मृत्यु के बाद हमे Insurance की राशि मिल सकती है ये सब बताने वाला हूं।

Dairy Cattle Insurance Policy Of SBI General Insurance


इस Insurance Policy के तहत इन पशुओ को बीमित किया जाता है।
1) दुधारू गाय और भैंस
2) दुधारू गाय और भैंस के बछड़े
3) प्रजनन करने योग्य सांड और भैंसे
4) बैल और भैंसे
इन Dairy Farming से जुड़े पशुओ का बीमा SBI general insurance के तहत किया जाता है।

Dairy Cattle Insurance Policy Of SBI General Insurance Period

दुधारू गाय और भैंसे के बीमा कराने के लिए कम से कम 1 साल और ज्यादा से ज्यादा 3 साल का अवधी ये पॉलिसी देती हैं।

Dairy Cattle Insurance Policy Eligible Age Groups for Coverage

इस insurance policy में नीचे दिगयीं पशुओ के को उम्र के अनुसार बीमा किया जाता हैं।
१) दुधारू गाय 2 साल की उम्र
2) दुधारू भैस 3 साल की उम्र
3) प्रजनन योग्य सांड 3 साल की उम्र
4) बैल या भैसा 3 साल की उम्र

What Does Dairy Cattle Insurance Policy Cover

इस insurance पॉलिसी में पशुओ के अचानक या अप्रत्यक्ष मृत्यू के निम्लिखित कारणों का समावेश होता है।
1) पशुओ का आग / बिजली गिरनेसे या विस्फोट कारण मौत होना।
2) पशुओ का विमान या मिसाइल दुर्घटना के कारण मौत होना।
3) पशुओ का दंगो या हड़ताल के कारण मारा जाना।
4) पशुओ का भूकंप, तूफान, बाढ़, चक्रवात के कारण मारा जाना।
5) पशुओ का सूखे के कारण मारा जाना।
6) पशुओ का दुर्घटना में मारा जाना।
7) ऑपरेशन के दौरान पशुओ की मौत होना।
8) पॉलिसी के दौरान किसी बीमारी के चपेट में आकर पशुओ की मौत होना।
इन कारणों से पशुओ की मौत होनेपर पशुओ को बीमित राशि का भुगतान किया जाता है ।

Dairy Cattle Insurance Policy Sum Insured

इस पॉलिसी के अधीन पशुको के मौत के बाद पशु के मालिक को मौजूदा मृत पशु के कीमत के आधार पर बीमा की राशि दी जायेगी। 
इस के लिए पशुपालक और पशुचिकिस्तक की आपसी सहमति से ये निर्णय लिया जायेगा।





इस insurance के बारे में अधिक जानने के लिए आपके नजदीकी SBI General Insurance के आफिस को भेंट दे।

Dairy Cattle Insurance Policy Of SBI General Insurance (Hindi) Dairy Cattle Insurance Policy Of SBI General Insurance (Hindi) Reviewed by Nitesh S Khandare on December 12, 2018 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.